Pages Menu
TwitterRssFacebook
Categories Menu

Posted on Oct 29, 2015 in Contemplation Poems, Frustration Poems | 0 comments

भिन्न – अनामिका

भिन्न – अनामिका

Introduction: See more

A fraction in mathematics is called ‘bhinn’ in Hindi. It can be a proper fraction like 2/3 (less than one) or an improper fraction like 3/2 (more than one). Here Anamika takes ‘bhinn’ as a metaphor for women. If she is too brainy (top-heavy), it is considered un-lady-like. Only if she remains traditional and confines herself to raising a family, is she lady-like. Rajiv Krishna Saxena

मुझे भिन्न कहते हैं
किसी पाँचवीं कक्षा के क्रुद्ध बालक की
गणित पुस्तिका में मिलूंगी —
एक पाँव पर खड़ी – डगमग।

मैं पूर्ण इकाई नहीं–
मेरा अधोभाग
मेरे माथे से सब भारी पड़ता है
लोग मुझे मानते हैं ठीक ठाक
अंग्रेजी में ‘प्रॉपर फ्रैक्शन’।

अगर कहीं गलती से
मेरा माथा
मेरे अधोभाग से भारी पड़ जाता है
लोगों के गले यह नहीं उतरता
और मेरे माथे पर बट्टा लग जाता है
‘इंप्रॉपर फ्रैक्शन’ का।

क्या माथा अधोभाग से भारी होना
इतना अनुचित है मेरे मालिक मेरे आका?
क्या इससे बढ़ जाती है मेरी दुरूहता?
कितने बरस और अभी रहेंगे आप
इसी पाँचवीं कक्षा के बालक की मनोदशा से?
लगातार मुझे काटते छाँटते
गोदी में मेरी
नन्हीं इकाइयाँ बिठाकर
वही लँगड़ी भिन्न बनाते
तीन होल नंबर फलाँ बटा फलाँ?

कब तक बाँटना कब तक छाँटना
देखिए मुझे अपने अंतिम दशमलव तक
फिर कहिये, क्या मैं बहुत भिन्न हूँ आपसे?

शब्दार्थ–
अधोभाग ∼ शरीर का निचला हिस्सा
दुरूहता ∼ कॉम्पलैक्सिटी

∼ अनामिका

Classic View

1,489 total views, 1 views today

Post a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *