Pages Menu
TwitterRssFacebook
Categories Menu

Posted on Oct 15, 2015 in Shabda Chitra Poems | 0 comments

बसंती हवा – केदार नाथ अग्रवाल

बसंती हवा – केदार नाथ अग्रवाल

Introduction: See more

Have you traveled through rural areas in Northern India in springtime? It is the time when the winter chill is giving way to glorious days with blue sky and cool sunshine. Farmers plant wheat and mustard together and the crops are harvested soon after spring. In springtime, one sees acres and acres of yellow carpet of mustard flowers towering over the green sea of wheat plants. And if you sit and watch for a while, you see the “Basanti Hawa” blowing quietly and most refreshingly, making waves in wheat crop. It is this most peaceful experience that Kadernath Ji has so beautifully painted in his words. Please read on – Rajiv K. Saxena

हवा हूँ, हवा मैं
बसंती हवा हूँ।
सुनो बात मेरी –
अनोखी हवा हूँ।

बड़ी बावली हूँ,
बड़ी मस्त्मौला।
नहीं कुछ फिकर है,
बड़ी ही निडर हूँ।
जिधर चाहती हूँ,
उधर घूमती हूँ,
मुसाफिर अजब हूँ।
न घर-बार मेरा,
न उद्देश्य मेरा,
न इच्छा किसी की,
न आशा किसी की,
न प्रेमी न दुश्मन,
जिधर चाहती हूँ
उधर घूमती हूँ।
हवा हूँ, हवा मैं
बसंती हवा हूँ!

जहाँ से चली मैं
जहाँ को गई मैं –
शहर, गाँव, बस्ती,
नदी, रेत, निर्जन,
हरे खेत, पोखर,
झुलाती चली मैं।
झुमाती चली मैं!
हवा हूँ, हवा मै
बसंती हवा हूँ।

चढ़ी पेड़ महुआ,
थपाथप मचाया;
गिरी धम्म से फिर,
चढ़ी आम ऊपर,
उसे भी झकोरा,
किया कान में ‘कू’,
उतरकर भगी मैं,
हरे खेत पहुँची –
वहाँ, गेंहुँओं में
लहर खूब मारी।

पहर दो पहर क्या,
अनेकों पहर तक
इसी में रही मैं!
खड़ी देख अलसी
लिए शीश कलसी,
मुझे खूब सूझी –
हिलाया-झुलाया
गिरी पर न कलसी!
इसी हार को पा,
हिलाई न सरसों,
झुलाई न सरसों,
हवा हूँ, हवा मैं
बसंती हवा हूँ!

मुझे देखते ही
अरहरी लजाई,
मनाया-बनाया,
न मानी, न मानी;
उसे भी न छोड़ा –
पथिक आ रहा था,
उसी पर ढकेला;
हँसी ज़ोर से मैं,
हँसी सब दिशाएँ,
हँसे लहलहाते
हरे खेत सारे,
हँसी चमचमाती
भरी धूप प्यारी;
बसंती हवा में
हँसी सृष्टि सारी!
हवा हूँ, हवा मैं
बसंती हवा हूँ!

∼ केदार नाथ अग्रवाल

 
Classic View

1,009 total views, 1 views today

Post a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *