Pages Menu
TwitterRssFacebook
Categories Menu

List of Poems

  1. हिमालय से भारत का नाता – गोपाल सिंह नेपाली
  2. मातृभाषा – अनामिका
  3. उठो धरा के अमर सपूतो – द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी
  4. दादी वाला गाँव – इंदिरा गौड़
  5. चांद पर मानव – काका हाथरसी
  6. चाँद को देखो – आरसी प्रसाद सिंह
  7. माहिश्मती सामराज्यम्ः बाहुबली
  8. मचा तहलका – उमा कांत मालवीय
  9. शरद की हवा – गिरिधर गोपाल
  10. डर लगता है! – कुमार विश्वास
  11. मैं तो वही खिलौना लूँगा – सियारामशरण गुप्त
  12. काम हमारे बड़े–बड़े – चिरंजीत
  13. थकी दुपहरी – गिरिजा कुमार माथुर
  14. शुरू हुआ उजियाला होना – हरिवंश राय बच्चन
  15. जिंदगी बदल रही है – गुलज़ार
  16. काका हाथरसी के दोहे
  17. एन आर आई कविता
  18. निदा फाजली के दोहे 2
  19. वर्षा के मेघ कटे – गोपी कृष्ण गोपेश
  20. आ गए तुम? – महाश्वेता देवी
  21. नाम उसका राम होगा – श्याम नारायण पाण्डेय
  22. हाथ बटाओ – निदा फाजली
  23. आ गए तुम? – महाश्वेता देवी
  24. विश्व–सुंदरी – गोपाल सिंह नेपाली
  25. गया साल – राजीव कृष्ण सक्सेना
  26. संसार – महादेवी वर्मा
  27. पास हुए हम – रामवचन सिंह
  28. कितनी बड़ी विवशता – सर्वेश्वरदयाल सक्सेना
  29. भारत गुण–गौरव – शमशेर बहादुर सिंह
  30. प्रसिद्धि प्रसंग – काका हाथरसी
  31. देवानंद और प्रेमनाथ – शैल चतुर्वेदी
  32. है तो है – दीप्ति मिश्र
  33. प्रिये – एक पौरोडी – बेढब बनारसी
  34. सूर्य–सा मत छोड़ जाना – निर्मला जोशी
  35. दीवाली आने वाली है – राजीव कृष्ण सक्सेना
  36. तब रोक न पाया मैं आँसू – हरिवंश राय बच्चन
  37. मेरा परिचय – अटल बिहारी वाजपेई
  38. मेरे नगपति! मेरे विशाल! – रामधारी सिंह दिनकर
  39. बाप का कंधा
  40. झुक नहीं सकते – अटलबिहारी वाजपेयी
  41. मीरा की कृष्ण भक्ति – मीरा बाई
  42. अमंगल आचरण – काका हाथरसी
  43. वर दे वीणावादिनि – सूर्यकांत त्रिपाठी निराला
  44. रोते रोते बहल गई कैसे – बेकल उत्साही
  45. साधो ये मुरदों का गाँव – संत कबीर
  46. नीड़ का निर्माण फिर फिर – हरिवंशराय बच्चन
  47. आँख – सूर्यकुमार पांडेय
  48. मैं ही हूं – राजीव कृष्ण सक्सेना
  49. यह दिल खोल तुम्हारा हँसना – गोपाल सिंह नेपाली
  50. पीने का बहाना – हुल्लड़ मुरादाबादी
  51. राम–भरत मिलन – महादेवी वर्मा
  52. वेदना – बेढब बनारसी
  53. हुल्लड़ और शादी – हुल्लड़ मुरादाबादी
  54. गड़बड़ झाला – देवेंन्द्र कुमार
  55. अपराधी कौन – रामधारी सिंह दिनकर
  56. काका और मच्छर – काका हाथरसी
  57. परिवर्तन – ठाकुर गोपालशरण सिंह
  58. तुम और मैंः दो आयाम – रामदरश मिश्र
  59. राष्ट्र की रपट – आचार्य भगवत दूबे
  60. पहली कोशिश – राज नारायण बिसारिया
  61. मधु की रात – चिरंजीत
  62. अँधेरी रात में दीपक जलाए कौन बैठा है? – हरिवंश राय बच्चन
  63. निष्क्रियता – राजीव कृष्ण सक्सेना
  64. मदारी का वादा – राजीव कृष्ण सक्सेना
  65. कुछ ऐसा खेल रचो साथी – गोपाल सिंह नेपाली
  66. दुनिया एक खिलौना – निदा फ़ाज़ली
  67. उत्तर न होगा वह – बालकृष्ण राव
  68. सुदामा चरित – नरोत्तम दास
  69. अकाल और उसके बाद – नागार्जुन
  70. जब मिलेगी रोशनी मुझसे मिलेगी – राम अवतार त्यागी
  71. हाथी दादा – रामानुज त्रिपाठी
  72. बिल्ली मौसी – सूर्य कुमार पांडेय
  73. पुष्प की अभिलाषा – माखनलाल चतुर्वेदी
  74. कौन यहाँ आया था – दुष्यंत कुमार
  75. कर चले हम फ़िदा – कैफी आज़मी
  76. गाय (भारत–भारती से) – मैथिली शरण गुप्त
  77. एक तिनका – अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’
  78. कुँआरी मुट्ठी – कन्हैया लाल सेठिया
  79. उग आया है चाँँद – नरेंद्र शर्मा
  80. तुम कितनी सुंदर लगती हो – धर्मवीर भारती
  81. रसगुल्ला
  82. नेताओं का चरित्र – माणिक वर्मा
  83. मंहगा पड़ा मायके जाना – राकेश खण्डेलवाल
  84. मंजिल दूर नहीं है – रामधारी सिंह दिनकर
  85. मनुष हौं तो वही रसखान
  86. मैं सबको आशीश कहूंगा – नरेंद्र दीपक
  87. मैं बल्ब और तू ट्यूब सखी – बाल कृष्ण गर्ग
  88. कुटी चली परदेस कमाने – शैलेंद्र सिंह
  89. खड़ा हिमालय बता रहा है – सोहनलाल द्विवेदी
  90. काला चश्मा – बरसाने लाल चतुर्वेदी
  91. हो गई है पीर पर्वत सी – दुष्यंत कुमार
  92. बुलाय गई राधा प्यारी – अल्हड़ बीकानेरी
  93. वह युग कब आएगा – बेधड़क बनारसी
  94. वह कौन है – हंस कुमार तिवारी
  95. तुम्हारे हाथ से टंक कर – कुंवर बेचैन
  96. टूटने का सुख – भवानी प्रसाद मिश्र
  97. ठंडा लोहा – धर्मवीर भारती
  98. सुख का दुख – भवानी प्रसाद मिश्र
  99. सतपुड़ा के घने जंगल – भवानी प्रसाद मिश्र
  100. सम्पाती – धर्मवीर भारती
  101. साकेत: भरत का पादुका मांगना – मैथिली शरण गुप्त
  102. साथी साँझ लगी अब होने – हरिवंश राय बच्चन
  103. फागुन के दिन की एक अनुभूति – धर्मवीर भारती
  104. पंथ होने दो अपरिचित प्राण रहने दो अकेला – महादेवी वर्मा
  105. नींद में सपना बन अज्ञात – महादेवी वर्मा
  106. मछली जल की रानी है
  107. क्योंकि सपना है अभी भी – धर्मवीर भारती
  108. कस्बे की शाम – धर्मवीर भारती
  109. कबीर के दोहे
  110. जो तुम आ जाते एक बार – महादेवी वर्मा
  111. स्त्री बनाम इस्तरी – जेमिनी हरियाणवी
  112. हमारा देश – अज्ञेय
  113. गीत फरोश – भवानी प्रसाद मिश्र
  114. दो अनुभूतियाँ – अटल बिहारी वाजपेयी
  115. दीदी के धूल भरे पाँव – धर्मवीर भारती
  116. चिट्ठी आई है – आनंद बक्षी
  117. चंदन बन डूब गया – किशन सरोज
  118. चंद अशआर गुनगुनाते हैं – अरुणिमा
  119. चांद का कुर्ता – रामधारी सिंह दिनकर
  120. बुनी हुई रस्सी – भवानी प्रसाद मिश्र
  121. किसान (भारत–भारती से) – मैथिली शरण गुप्त
  122. यह अरुण चूड़ का तरुण राग – हरिवंश राय बच्चन
  123. उदास सांझ – मैत्रेयी अनुरूपा
  124. तुम्हारे पाँव मेरी गोद में – धर्मवीर भारती
  125. तुम असीम – घनश्याम चन्द्र गुप्त
  126. सखी वे मुझ से कह कर जाते – मैथिली शरण गुप्त
  127. साकेत: राम का उत्तर – मैथिली शरण गुप्त
  128. साकेत: कैकेयी का पश्चाताप – मैथिली शरण गुप्त
  129. साकेत: अष्टम सर्ग – मैथिली शरण गुप्त
  130. साथी अंत दिवस का आया – हरिवंश राय बच्चन
  131. सारे जहां से अच्छा – मुहम्मद इक़बाल
  132. रेखा चित्र – प्रभाकर माचवे
  133. रेलगाड़ी रेलगाड़ी छुक छुक छुक छुक – हरिंद्रनाथ चट्टोपाध्याय
  134. रात रात भर श्वान भूकते – हरिवंश राय बच्चन
  135. प्रबल झंझावात साथी – हरिवंश राय बच्चन
  136. फूल, मोमबत्तियां, सपने – धर्मवीर भारती
  137. नाश देवता – गजानन माधव मुक्तिबोध
  138. मुरझाया फूल – महादेवी वर्मा
  139. माता की मृत्यु पर – प्रभाकर माचवे
  140. मधुर मधुर मेरे दीपक जल – महादेवी वर्मा
  141. लो वही हुआ – दिनेश सिंह
  142. कोई पार नदी के गाता – हरिवंश राय बच्चन
  143. खग उड़ते रहना जीवन भर – गोपाल दस नीरज
  144. कारवां गुजर गया – गोपाल दास नीरज
  145. कल और आज – नागार्जुन
  146. ज्योति कलश छलके – नरेंद्र शर्मा
  147. झाँसी की रानी – सुभद्रा कुमारी चौहान
  148. इतिहास (कनुप्रिया) – धर्मवीर भारती
  149. इस पार – उस पार – हरिवंश राय बच्चन
  150. इधर भी गधे हैं‚ उधर भी गधे हैं – ओम प्रकाश आदित्य
  151. हम लाये हैं तूफ़ान से किश्ती निकाल के – कवि प्रदीप
  152. हे सांझ मइया – शलभ श्रीराम सिंह
  153. है यह पतझड़ की शाम, सखे – हरिवंश राय बच्चन
  154. गाँव के कुत्ते – सूंड फैजाबादी
  155. गंगा की विदाई – माखनलाल चतुर्वेदी
  156. दुपहरिया – केदार नाथ सिंह
  157. दो नयन मेरी प्रतीक्षा में खड़े हैं – हरिवंश राय बच्चन
  158. दीप मेरे जल अकम्पित (दीपशिखा) – महादेवी वर्मा
  159. छिप छिप अश्रु बहाने वालों – गोपाल दास नीरज
  160. छाया मत छूना – गिरिजा कुमार माथुर
  161. चलो हम दोनों चलें वहां – नरेंद्र शर्मा
  162. अंधा युग (शाप पाने से प्रभु मृत्यु तक) – धर्मवीर भारती
  163. अंधा युग (गांधारी का शाप और प्रभु श्री कृष्ण का शाप को स्वीकारना) – धर्मवीर
    भारती
  164. यह कदम्ब का पेड़ – सुभद्रा कुमारी चौहान
  165. यह भी दिन बीत गया – रामदरश मिश्र
  166. विजयी के सदृश जियो रे – रामधारी सिंह दिनकर
  167. वीरों का कैसा हो वसंत – सुभद्रा कुमारी चौहान
  168. उतना तुम पर विश्वास बढ़ा – रामेश्वर शुक्ल ‘अंचल’
  169. तुम्हें नमन – सोहनलाल द्विवेदी
  170. श्वेत कबूतर – वीरबाला भावसार
  171. स्नेह निर्झर बह गया है – सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’
  172. शक्ति और क्षमा – रामधारी सिंह दिनकर
  173. सपन न लौटे – उदय भान मिश्र
  174. समाधान – राजीव कृष्ण सक्सेना
  175. सागर के उर पर नाच नाच – ठाकुर गोपाल शरण सिंह
  176. रश्मिरथी (Karna replies to Krishna: From III
    chapter)
  177. रश्मिरथी (Krishna meets Duryodhana : From
    III Chapter)
  178. रात और शहनाई – रमानाथ अवस्थी
  179. पथ भूल न जाना – शिवमंगल सिंह ‘सुमन’
  180. नारी – सुमित्रानंदन पंत
  181. उर्वशी (नर प्रेम – नारी प्रेम) – रामधारी सिंह दिनकर
  182. नन्हा पौधा – वेंकटेश चन्द्र पाण्डेय
  183. नदी के पार से मुझको बुलाओ मत – राजनारायण बिसारिया
  184. नाव चलती रही – वीरबाला भावसार
  185. मेघ आये बड़े बन ठन के, सँवर के – सर्वेश्वर दयाल सक्सेना
  186. मन पाखी टेरा रे – वीरबाला भावसार
  187. मन ऐसा अकुलाया – वीरबाला भावसार
  188. मैं नहीं आया तुम्हारे द्वार – शिवमंगल सिंह ‘सुमन’
  189. मैं हूँ अपराधी किस प्रकार – ठाकुर गोपाल शरण सिंह
  190. मधुशाला – हरिवंश राय बच्चन
  191. लजीली रात आई है – चिरंजीत
  192. क्या इनका कोई अर्थ नही – धर्मवीर भारती
  193. कुछ तो स्टैंडर्ड बनाओ – काका हाथरसी
  194. कानाफूसी – राम विलास शर्मा
  195. इस घर का यह सूना आंगन – विजय देव नारायण साही
  196. हम पंछी उन्‍मुक्‍त गगन के – शिवमंगल सिंह ‘सुमन’
  197. हिम्मत करने वालों की कभी हार नहीं होती – हरिवंश राय बच्चन
  198. हल्दीघाटी: झाला का बलिदान – श्याम नारायण पाण्डेय
  199. है मन का तीर्थ बहुत गहरा – वीरबाला भावसार
  200. गर्मी और आम – राजीव कृष्ण सक्सेना
  201. एक पूरा दिन – राजीव कृष्ण सक्सेना
  202. धूप ने बुलाया – सर्वेश्वर दयाल सक्सेना
  203. धन्यवाद – शिवमंगल सिंह ‘सुमन’
  204. चले नहीं जाना बालम – सर्वेश्वर दयाल सक्सेना
  205. देश की धरती, तुझे कुछ और भी दूँ – राम अवतार त्यागी
  206. अवगुंठित – सुमित्रानंदन पंत
  207. याचना – रघुवीर सहाय
  208. तुझे कैसे भूल जाऊं – दुष्यंत कुमार
  209. सूने घर में – सत्यनारायण
  210. सोने के हिरन – कन्हैया लाल वाजपेयी
  211. साकेत: दशरथ का श्राद्ध, राम भारत संवाद – मैथिली शरण गुप्त
  212. सबसे अधिक तुम्हीं रोओगे – राम अवतार त्यागी
  213. पीथल और पाथल – कन्हैयालाल सेठिया
  214. पीहर का बिरवा – अमरनाथ श्रीवास्तव
  215. फूल और कांटे – अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’
  216. पहली बातें – भवानी प्रसाद मिश्र
  217. निर्वाण षटकम् – आदि शंकराचार्य
  218. नर हो, न निराश करो मन को  – मैथिली शरण गुप्त
  219. नदी सा बहता हुआ दिन – सत्यनारायण
  220. मेरा नया बचपन – सुभद्रा कुमारी चौहान
  221. नाम बड़े दर्शन छोटे – काका हाथरसी
  222. मातृभूमि – मैथिली शरण गुप्त
  223. मांझी न बजाओ बंशी – केदार नाथ अग्रवाल
  224. क्या कहा? – जेमिनी हरियाणवी
  225. खूनी हस्‍ताक्षर – गोपाल प्रसाद व्यास
  226. कौन यह तूफ़ान रोके – हरिवंश राय बच्चन
  227. कौन थकान हरे जीवन की – गिरिजा कुमार माथुर
  228. कौन गाता जा रहा है – विद्यावती कोकिल
  229. कामायनी – जयशंकर प्रसाद
  230. जिस तट पर – बुद्धिसेन शर्मा
  231. कब बरसेगा पानी – बेकल उत्साही
  232. निदा फाज़ली के दो गीत
  233. झर गये पात – बालकवि बैरागी
  234. हिमाद्रि तुंग शृंग से – जयशंकर प्रसाद
  235. गोरी बैठी छत पर – ओम प्रकाश आदित्य
  236. गीत का पहला चरण हूं – इंदिरा गौड़
  237. एक आशीर्वाद – दुष्यंत कुमार
  238. धूप सा तन दीप सी मैं – महादेवी वर्मा
  239. देह के मस्तूल – चंद्रसेन विराट
  240. दफ्तर का बाबू – सुरेश उपाध्याय
  241. बोआई का गीत – धर्मवीर भारती
  242. याद आती रही – प्रभा ठाकुर
  243. विप्लव गान – बालकृष्ण शर्मा ‘नविन’
  244. उठो लाल अब आँखें खोलो – सोहनलाल द्विवेदी
  245. उम्र बढ़ने पर – महेश चंद्र गुप्त ‘खलिश’
  246. तुम्हारी हंसी – कुसुम सिन्हा
  247. तुम कभी थे सूर्य – चंद्रसेन विराट
  248. तुम जानो या मैं जानूँ – शंभुनाथ सिंह
  249. ठुकरा दो या प्यार करो – सुभद्रा कुमारी चौहान
  250. ठहर जाओ – रामेश्वर शुक्ल ‘अंचल’
  251. तेली कौ ब्याह – काका हाथरसी
  252. तन हुए शहर के – सोम ठाकुर
  253. सूरज डूब चुका है – अजित कुमार
  254. साधारण जन – राजीव कृष्ण सक्सेना
  255. सच हम नहीं सच तुम नहीं – जगदीश गुप्त
  256. रे प्रवासी जाग – रामधारी सिंह दिनकर
  257. प्राण तुम्हारी पदरज फूली – सच्‍चिदानन्‍द हीरानन्‍द वात्‍स्‍यायन ‘अज्ञेय’
  258. प्रभाती – रघुवीर सहाय
  259. पिता सरीखे गांव – राजेंद्र गौतम
  260. फूटा प्रभात – भारत भूषण अग्रवाल
  261. पतंगों का मौसम – शिव मृदुल
  262. मिट्टी की महिमा – शिवमंगल सिंह ‘सुमन’
  263. मेरा खरापन शेष है – सूर्यकुमार पांडेय
  264. मत कहो आकाश में कोहरा घना है – दुष्यंत कुमार
  265. तुमुल कोलाहल कलह में मैं हृदय की बात रे मन – जयशंकर प्रसाद
  266. माँ कह एक कहानी – मैथिली शरण गुप्त
  267. क्या वह नहीं होगा – कुंवर नारायण
  268. कुछ मैं कहूं कुछ तुम कहो – रमानाथ अवस्थी
  269. करो हमको न शर्मिंदा – कुंवर बेचैन
  270. कहां रहेगी चिड़िया – महादेवी वर्मा
  271. जीवन के रेतीले तट पर – अजित शुकदेव
  272. जब जब सिर उठाया – सर्वेश्वर दयाल सक्सेना
  273. जाग तुझको दूर जाना – महादेवी वर्मा
  274. इस मोड़ से जाते हैं – गुलज़ार
  275. गीली शाम – चन्द्रदेव सिंह
  276. दिवा स्वप्न – राम विलास शर्मा
  277. धुंधली नदी में – धर्मवीर भारती
  278. देश मेरे – राजीव कृष्ण सक्सेना
  279. वाजे बंद मिले – नरेंद्र चंचल
  280. चल मियाँ – जेमिनी हरियाणवी
  281. ब्याह की शाम – अजित कुमार
  282. क्या करूँ अब क्या करूँ – राजीव कृष्ण सक्सेना
  283. सिंधु में ज्वार – अटल बिहारी वाजपेयी
  284. एक चाय की चुस्की – उमाकांत मालवीय
  285. यह लघु सरिता का बहता जल – गोपाल सिंह नेपाली
  286. यात्रा और यात्री – हरिवंश राय बच्चन
  287. उँगलियाँ थाम के खुद – कुंवर बेचैन
  288. सूर्य ढलता ही नहीं है – रामदरश मिश्र
  289. सोच सुखी मेरी छाती है – हरिवंश राय बच्चन
  290. पुत्र वधू से – प्रतिभा सक्सेना
  291. पुण्य फलिभूत हुआ – अमरनाथ श्रीवास्तव
  292. प्रार्थना की एक अनदेखी कड़ी – धर्मवीर भारती
  293. मन को वश में करो, फिर चाहे जो करो – रमानाथ अवस्थी
  294. पीर मेरी – वीरेंद्र मिश्र
  295. पी जा हर अपमान – बालस्वरूप राही
  296. पथ-हीन – भारत भूषण अग्रवाल
  297. परशुराम की प्रतीक्षा – रामधारी सिंह दिनकर
  298. पन्ना दाई – सत्य नारायण गोयंका
  299. पक्षी और बादल – रामधारी सिंह दिनकर
  300. नींद की पुकार – वीरबाला भावसार
  301. मेरी थकन उतर जाती है – राम अवतार त्यागी
  302. मीलों तक – कुंवर बेचैन
  303. मास्टर की छोरी – प्रतिभा सक्सेना
  304. क्योंकि अब हमें पता है – मनु कश्यप
  305. क्यों प्रभु क्यों? – राजीव कृष्ण सक्सेना
  306. कौन जाने – बालकृष्ण राव
  307. कर्मवीर – अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’
  308. कहीं तुम पंथ पर पलकें बिछाए तो नहीं बैठीं – बालस्वरूप राही
  309. कहाँ तो तय था चराग़ाँ हर एक घर के लिये – दुष्यंत कुमार
  310. जो बीत गई सो बात गई – हरिवंश राय बच्चन
  311. जीवन क्रम – बालस्वरूप राही
  312. जाहिल मेरे बाने – भवानी प्रसाद मिश्र
  313. जाने क्या हुआ – ओम प्रभाकर
  314. इतने ऊँचे उठो – द्वारिका प्रसाद महेश्वरी
  315. इंतजार – राजीव सक्सेना
  316. इब्‍नबतूता बगल में जूता – गुलजार
  317. हम सब सुमन एक उपवन के – द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी
  318. हरी मिर्च – सत्यनारायण शर्मा ‘कमल’
  319. हल्दीघाटी: युद्ध – श्याम नारायण पाण्डेय
  320. घर की याद – भवानी प्रसाद मिश्र
  321. एक गीत और कहो – पूर्णिमा वर्मन
  322. एक बूंद – अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’
  323. दूर का सितारा – निदा फ़ाज़ली
  324. धूप की चादर – दुष्यंत कुमार
  325. चूड़ी का टुकड़ा – गिरिजा कुमार माथुर
  326. चिट्ठी है किसी दुखी मन की – कुंवर बेचैन
  327. यहाँ भी, वहाँ भी – निदा फ़ाज़ली
  328. विवशता – राजीव कृष्ण सक्सेना
  329. विज्ञान विद्यार्थी का प्रेम गीत – धर्मेंद्र कुमार सिंह
  330. व्यक्तित्व का मध्यांतर – गिरिजा कुमार माथुर
  331. तुम निश्चिन्त रहना – किशन सरोज
  332. तूफानों की ओर घुमा दो नाविक – शिवमंगल सिंह ‘सुमन’
  333. स्त्रीलिंग पुल्लिंग – काका हाथरसी
  334. समोसे – घनश्याम चन्द्र गुप्त
  335. साक्षात्कार – श्रीप्रकाश शुक्ल
  336. साबुत आईने – धर्मवीर भारती
  337. रहीम के दोहे
  338. राही के मुक्तक – बालस्वरूप राही
  339. नवम्बर की दोपहर – धर्मवीर भारती
  340. मुझे अकेला ही रहने दो – ठाकुर गोपाल शरण सिंह
  341. मज़ा ही कुछ और है – ओम व्यास ओम
  342. प्रेम–पगी कविता – आशुतोष द्विवेदी
  343. प्रेमिका का उत्तर कवि को – बालस्वरूप राही
  344. प्रथम प्रणय – धर्मवीर भारती
  345. फूले फूल बबूल – नरेश सक्सेना
  346. फूल और मिट्टी – वीरबाला भावसार
  347. नींद भी न आई (तुक्तक) – भारत भूषण अग्रवाल
  348. मैं सबसे छोटी होऊं – सुमित्रानंदन पंत
  349. माँ और पिता – ओम व्यास ओम
  350. लौट आओ – सोम ठाकुर
  351. कुम्हलाये हैं फूल – ठाकुर गोपाल शरण सिंह
  352. कोई और छाँव देखेंगे – ताराप्रकाश जोशी
  353. कवि का पत्र प्रेमिका को – बालस्वरूप राही
  354. कल्पना और जिंदगी – वीरेंद्र मिश्र
  355. कछुआ जल का राजा है – राजीव कृष्ण सक्सेना
  356. कब मना है – हरिवंश राय बच्चन
  357. जिंदगानी मना ही लेती है – बालस्वरूप राही
  358. जानते हो – राज कुमार
  359. इतिहास की परीक्षा – ओम प्रकाश आदित्य
  360. इस तरह तो – बालस्वरूप राही
  361. इक पल – राजीव कृष्ण सक्सेना
  362. हल्दीघाटी: युद्ध के लिये प्रयाण – श्याम नारायण पाण्डेय
  363. घर : दो कविताएं
  364. घर वापसी – राजनारायण बिसारिया
  365. गरीबों की जवानी – देवी प्रसाद शुक्ल ‘राही’
  366. एक भी आँसू न कर बेकार – राम अवतार त्यागी
  367. एक बरस बीत गया – अटल बिहारी वाजपेयी
  368. ढूंढते रह जाओगे – अरुण जैमिनी
  369. धर्म है – गोपाल दास नीरज
  370. देखो, टूट रहा है तारा – हरिवंश राय बच्चन
  371. चिड़िया और चुरुगन – हरिवंश राय बच्चन
  372. छोटे शहर की यादें – शार्दुला नोगजा
  373. यूं ही होता है – जावेद अख्तर
  374. यह बात किसी से मत कहना – देवराज दिनेश
  375. सूर्य की अब किसी को जरूरत नहीं – कुमार शिव
  376. सद्य स्नाता – प्रतिभा सक्सेना
  377. साधारण का आनंद – भवानी प्रसाद मिश्र
  378. रंजिश ही सही – अहमद फ़राज़
  379. फूल और कली – उदय प्रताप सिंह
  380. फिर क्या होगा – बालकृष्ण राव
  381. परदेसी को पत्र – त्रिलोचन
  382. परम्परा – रामधारी सिंह दिनकर
  383. पंचवटी – मैथिली शरण गुप्त
  384. पानी और धुप – सुभद्रा कुमारी चौहान
  385. मुनादी – धर्मवीर भारती
  386. मुझको सरकार बनाने दो – अल्हड़ बीकानेरी
  387. मेरे राम जी – अल्हड़ बीकानेरी
  388. मेरा गाँव – किशोरी रमण टंडन
  389. मीरा के दो भजन
  390. मैं और मेरा पिट्ठू – भारत भूषण अग्रवाल
  391. खून फिर खून है – साहिर लुधियानवी
  392. कहने को घर अब भी है – वीरेंद्र मिश्र
  393. काँधे धरी यह पालकी – कुंवर नारायण
  394. कमरे में धूप – कुंवर नारायण
  395. कलाकार और सिपाही – सर्वेश्वर दयाल सक्सेना
  396. कभी कभी – साहिर लुधियानवी
  397. झंडा ऊँचा रहे हमारा – श्यामलाल पार्षद
  398. जीवन कट गया – गोपाल दास नीरज
  399. जनतंत्र का जन्म – रामधारी सिंह दिनकर
  400. जल – किशन सरोज
  401. हो चुका खेल – राजकुमार
  402. गाँव की तरफ – उदय प्रताप सिंह
  403. गाँव जाना चाहता हूँ – राम अवतार त्यागी
  404. एक सीढ़ी और – कुंवर बेचैन
  405. दाने – केदार नाथ सिंह
  406. बोलो माँ – अंजना भट्ट
  407. बिन दाढ़ी मुख सून – काका हाथरसी
  408. तुम्हारे पत्र – अनिल वर्मा
  409. पंद्रह अगस्त: 1947 – गिरिजा कुमार माथुर
  410. पड़ोस – ऋतुराज
  411. जिंदगी – बुद्धिनाथ मिश्रा
  412. ज़िन्दगी की शाम – राजीव कृष्ण सक्सेना
  413. वो सुबह कभी तो आएगी – साहिर लुधियानवी
  414. विदा की घड़ी है – राजनारायण बिसरिया
  415. वही बोलें – संतोष यादव ‘अर्श’
  416. तुम्हारा साथ – रामदरश मिश्र
  417. टूटा पहिया – धर्मवीर भारती
  418. तीर पर कैसे रुकूँ मैं – हरिवंश राय बच्चन
  419. टल नही सकता – कुंवर बेचैन
  420. स्मृति बच्चों की – वीरेंद्र मिश्र
  421. निदा फ़ाज़ली के दोहे
  422. मानवता और धर्मयुद्ध (रश्मिरथी) – रामधारी सिंह दिनकर
  423. पुराने पत्र – रामकुमार चतुर्वेदी ‘चंचल’
  424. शिकायत – राम अवतार त्यागी
  425. सन्नाटा – भवानी प्रसाद मिश्र
  426. सपनों का अंत नहीं होता – शिव बहादुर सिंह भदौरिया
  427. रूप के बादल – गोपी कृष्ण गोपेश
  428. रेशमी नगर – रामधारी सिंह दिनकर
  429. राख – कैफ़ी आज़मी
  430. पुरुस्कार – शकुंतला कालरा
  431. पुरबा जो डोल गई – शिवबहादुर सिंह भदौरिया
  432. परमगुरु – अनामिका
  433. न्यूयार्क की एक शाम – गिरिजा कुमार माथुर
  434. नीम के फूल – कुंवर नारायण
  435. नया तरीक़ा – नागार्जुन
  436. नाव चली नानी की नाव चली – हरिंद्रनाथ चट्टोपाध्याय
  437. नखरे सलाई के – दिनेश प्रभात
  438. मुस्कुराने के लिए – हुल्लड़ मुरादाबादी
  439. मेरा उसका परिचय इतना – अंसार कंबरी
  440. मौन निमंत्रण – सुमित्रानंदन पंत
  441. भागे लेकर बल्ला – रामानुज त्रिपाठी
  442. सूने दालान – सोम ठाकुर
  443. मैं फिर अकेला रह गया – दिनेश सिंह
  444. माँ की याद – सर्वेश्वरदयाल सक्सेना
  445. क्या करूँ संवेदना ले कर तुम्हारी – हरिवंश राय बच्चन
  446. ख़य्याम की मधुशाला (भाग एक) – हरिवंश राय बच्चन
  447. कच्ची सड़क – सर्वेश्वर दयाल सक्सेना
  448. कब बरसेगा पानी – बेकल उत्साही
  449. कांच का खिलौना – आत्म प्रकाश शुक्ल
  450. जीवन की ही जय है – मैथिली शरण गुप्त
  451. इंकार कर दिया – राम अवतार त्यागी
  452. हम तुम – रामदरश मिश्र
  453. हम न रहेंगे – केदार नाथ अग्रवाल
  454. हुल्लड़ के दोहे – हुल्लड़ मुरादाबादी
  455. हर घट से – गोपाल दास नीरज
  456. गिरिधर की कुंडलियाँ – गिरिधर कविराय
  457. घर की बात – प्रेम तिवारी
  458. दिवंगत मां के नाम पत्र – अशोक वाजपेयी
  459. चलती रहीं तुम – बुद्धिनाथ मिश्र
  460. भूले हुओं का गीत – गिरिजा कुमार माथुर
  461. अब घर लौट आओ – महेश्वर तिवारी
  462. यह बच्चा कैसा बच्चा है – इब्ने इंशा
  463. याद आये – किशन सरोज
  464. विजय भेरी – मैथिली शरण गुप्त
  465. वीर सिपाही – श्याम नारायण पाण्डेय
  466. वतन पे जो फ़िदा होगा – आनंद बक्षी
  467. वन्दे मातरम् – बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय
  468. उस पगली लड़की के बिन – कुमार विश्वास
  469. तुमको रुप का अभिमान – रामकुमार चतुर्वेदी ‘चंचल’
  470. तुम्हारी उम्र वासंती – दिनेश प्रभात
  471. ठंडी हवा – दुष्यंत कुमार
  472. तेरे बिन – रमेश गौड़
  473. तेरा राम नहीं – निदा फ़ाज़ली
  474. तन बचाने चले थे – राम अवतार त्यागी
  475. सुबह – श्री प्रसाद
  476. सृष्टि – सुमित्रानंदन पंत
  477. सूना घर – दुष्यंत कुमार
  478. शीशे का घर – श्रीकृष्ण तिवारी
  479. साँप – धनंजय सिंह
  480. रुके न तू – हरिवंश राय बच्चन
  481. रोज़ ज़हर पीना है – श्रीकृष्ण तिवारी
  482. रहने को घर नहीं है – हुल्लड़ मुरादाबादी
  483. रम्भा – रामधारी सिंह दिनकर
  484. राह कौन सी जाऊं मैं – अटल बिहारी वाजपेयी
  485. पूर्व चलने के बटोही – हरिवंश राय बच्चन
  486. परखना मत – बशीर बद्र
  487. पगडंडी – प्रयाग शुक्ल
  488. नानक दुखिया सब संसार – जेमिनी हरियाणवी
  489. नाम बड़े हस्ताक्षर छोटे – काका हाथरसी
  490. न मिलता गम – शकील बदायुनी
  491. मेरे सपने बहुत नहीं हैं – गिरिजा कुमार माथुर
  492. मेहंदी लगाया करो – विष्णु सक्सेना
  493. मन रे तू काहे न धीर धरे – साहिर लुधियानवी
  494. माँ से दूर – राहुल उपाध्याय
  495. लोकतंत्र – राजेंद्र तिवारी
  496. क्या करेगी चांदनी – हुल्लड़ मुरादाबादी
  497. कितने दिन चले – किशन सरोज
  498. कृष्ण मुक्ति – राजीव कृष्ण सक्सेना
  499. खिलौने ले लो बाबूजी – राजीव कृष्ण सक्सेना
  500. खेल – निदा फ़ाज़ली
  501. कौन सिखाता है चिड़ियों को – सोहनलाल द्विवेदी
  502. काका के उपदेश – काका हाथरसी
  503. कदम मिला कर चलना होगा – अटल बिहारी वाजपेयी
  504. मैं जीवन में कुछ न कर सका – हरिवंश राय बच्चन
  505. जीवन का दाँव – राजेंद्र त्रिपाठी
  506. जीवन दर्शन – काका हाथरसी
  507. जसोदा हरि पालने झुलावे – सूरदास
  508. जरूरत क्या थी? – हुल्लड़ मुरादाबादी
  509. जनम दिन – गोपाल दास नीरज
  510. जैसे तुम सोच रहे साथी – विनोद श्रीवास्तव
  511. जयद्रथ वध – मैथिली शरण गुप्त
  512. जहाँ मैं हूँ – बुद्धिसेन शर्मा
  513. जब तुम आओगी – मदन कश्यप
  514. जब नींद नहीं आती होगी – रामेश्वर शुक्ल अंचल
  515. हमराही – राजीव कृष्ण सक्सेना
  516. हम तो मस्त फ़क़ीर – गोपाल दास नीरज
  517. हम को मन की शक्ति देना – गुलज़ार
  518. हम जीवन के महा काव्य – देवेंद्र शर्मा ‘इंद्र’
  519. हम होंगे कामयाब – गिरिजा कुमार माथुर
  520. हवाएँ ना जाने – परमानन्द श्रीवास्तव
  521. हंगामा – कुमार विश्वास
  522. हमारा अतीत (भारत–भारती से) – मैथिली शरण गुप्त
  523. गाँव जा कर क्या करेंगे – रामकुमार चतुर्वेदी ‘चंचल’
  524. लो दिन बीता – हरिवंश राय बच्चन
  525. गाली अगर न मिलती – राम अवतार त्यागी
  526. फागुन की शाम – धर्मवीर भारती
  527. एक कण दे दो न मुझको – अंचल
  528. बूँद टपकी एक नभ से – भवानी प्रसाद मिश्र
  529. चल उठ नेता – अशोक अंजुम
  530. दो दिन ठहर जाओ – रामकुमार चतुर्वेदी ‘चंचल’
  531. अभी तो झूम रही है रात – गिरिजा कुमार माथुर
  532. वो आदमी नहीं है – दुष्यंत कुमार
  533. तुम – कुंवर बेचैन
  534. उठो स्वदेश के लिये – क्षेमचंद सुमन
  535. तू बावन बरस की – जेमिनी हरियाणवी
  536. सुप्रभात – प्रभाकर शुक्ल
  537. पुनः स्मरण – दुष्यंत कुमार
  538. राही के शेर – बालस्वरूप राही
  539. रिम झिम बरस रहा है पानी – राजीव कृष्ण सक्सेना
  540. क्षुद्र की महिमा – श्यामनंदन किशोर
  541. फिर एक बार – महादेवी वर्मा
  542. प्रताप की प्रतिज्ञा – श्याम नारायण पांडेय
  543. पलायन संगीत – राजीव कृष्ण सक्सेना
  544. बाकी रहा – राजगोपाल सिंह
  545. कोयल – सुभद्रा कुमारी चौहान
  546. क्या तुम न आओगे – टी एन राज
  547. अम्बर की एक पाक सुराही – अमृता प्रीतम
  548. कभी नहीं – ओम व्यास ओम
  549. सूरज भाई – इंदिरा गौड़
  550. आने वाला नन्हा मेहमान
  551. अध्यापक की शादी – जैमिनि हरियाणवी
  552. आँगन – धर्मवीर भारती
  553. बड़ी बात है – राजा चौरसिया
  554. दीवाली आने वाली है – राजीव कृष्ण सक्सेना
  555. साल आया है नया – हुल्लड़ मुरादाबादी
  556. काका की अमरीका यात्रा – काका हाथरसी
  557. नए साल की शुभकामनाएं – सर्वेश्वर दयाल सक्सेना
  558. दीदी का भालू – राजीव कृष्ण सक्सेना
  559. भारतमाता ग्रामवासिनी – सुमित्रानंदन पंत
  560. भिन्न – अनामिका
  561. भोर हुई – रूप नारायण त्रिपाठी
  562. बातचीत की कला – राजीव कृष्ण सक्सेना
  563. बे-जगह – अनामिका
  564. बीत गया इतवार – माहेश्वर तिवारी
  565. बीते दिन वर्ष – विद्यासागर वर्मा
  566. भेड़ियों के ढंग – उदयभानु हंस
  567. भैंसागाड़ी – भगवती चरण वर्मा
  568. भंगुर पात्रता – भवानी प्रसाद मिश्र
  569. भर दिया जाम – बालस्वरूप राही
  570. भारतीय समाज – भवानी प्रसाद मिश्र
  571. भये प्रगट कृपाला – गोस्वामी तुलसीदास
  572. भीग रहा है गांव – अखिलेश कुमार सिंह
  573. बस इतना सा समाचार है – अमिताभ त्रिपाठी
  574. बरसाने लाल चतुर्वेदी के तुक्तक
  575. बसंती हवा – केदार नाथ अग्रवाल
  576. बादलों की रात – रामकुमार चतुर्वेदी चंचल
  577. बाढ़ की संभावनाएं – दुष्यंत कुमार
  578. बढ़े चलो, बढ़े चलो – सोहन लाल द्विवेदी
  579. बंदर आया – अयोध्या सिंह हरिऔध
  580. बांसुरी दिन की – माहेश्वर तिवारी
  581. बरसों के बाद – गिरिजा कुमार माथुर
  582. अँधेरी रात में दीपक जलाये कौन बैठा है – हरिवंश राय बच्चन
  583. अनुभव परिपक्व – अज्ञेय
  584. अपना घर है सबसे प्यारा
  585. अपनापन – बुद्धिसेन शर्मा
  586. अपने ही मन से कुछ बोले – अटल बिहारी वाजपेयी
  587. अपनी इज्जत न दाँव पर रखिये – राजीव कृष्ण सक्सेना
  588. अरसे के बाद – राजीव कृष्ण सक्सेना
  589. अरुण यह मधुमय देश हमारा – जय शंकर प्रसाद
  590. आर्य (भारत–भारती से) – मैथिली शरण गुप्त (राष्ट्र कवि)
  591. असमर्थता – राजेंद्र पासवान ‘घायल’
  592. आशा कम विश्वास बहुत है – बलबीर सिंह ‘रंग’
  593. अटल जी: दो कविताएं – अटल बिहारी वाजपेयी *** Classic View / Intro tab added
  594. और भी दूँ – राम अवतार त्यागी
  595. और काम सोचना – नीलम सिंह
  596. बागन काहे को जाओ पिया – रसखान
  597. बाँधो न नाव इस ठाँव, बन्धु – सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’
  598. बाज़ लोग – अनामिका
  599. बात कम कीजे – निदा फाज़ली
  600. बात बात में – शिवमंगल सिंह सुमन
  601. बातें – धर्मवीर भारती
  602. अभी न सीखो प्यार – धर्मवीर भारती
  603. अच्छा अनुभव – भवानी प्रसाद मिश्र
  604. अच्छा नहीं लगता – संतोष अर्श
  605. अच्छा लगा – रामदरश मिश्र
  606. अच्छा तो हम चलते हैं – आनंद बक्षी
  607. अधिकार – महादेवी वर्मा
  608. अधूरी याद – राकेश खण्डेलवाल
  609. अगर डोला कभी – धर्मवीर भारती
  610. अगर कहीं मैं घोड़ा होता – सर्वेश्वर दयाल सक्सेना
  611. अगर पेड़ भी चलते होते – दिविक रमेश
  612. अग्निपथ – हरिवंश राय बच्चन
  613. आज्ञा – राजीव कृष्ण सक्सेना
  614. अज्ञात साथी के नाम – गोपाल दास नीरज
  615. अहिंसा – भारत भूषण अग्रवाल
  616. ऐसा नियम न बाँधो – आनंद शर्मा
  617. आल्हाखंड: संयोगिता का अपहरण
  618. आनंद बक्षी: दो गीत
  619. अंतर – कुंवर बेचैन
  620. अंतिम मिलन – बाल कृष्ण राव
  621. अंतहीन यात्री – धर्मवीर भारती
  622. ऐ मेरे वतन के लोगों – प्रदीप
  623. आ रही रवि की सवारी – हरिवंश राय बच्चन
  624. आदमी का आकाश – राम अवतार त्यागी
  625. रात यों कहने लगा मुझसे गगन का चाँद – रामधारी सिंह दिनकर
  626. आगे गहन अंधेरा है – नेमीचन्द्र जैन
  627. आज ही होगा – बालकृष्ण राव
  628. आज का दिन – रविन्द्र भ्रमर
  629. आज के बिछुड़े न जाने कब मिलेंगे – पंडित नरेंद्र शर्मा
  630. आज की रात बहुत गर्म हवा चलती है – कैफी आज़मी
  631. आज मानव का सुनहला प्रात है – भगवती चरण वर्मा
  632. आज मुझसे दूर दुनियाँ – हरिवंश राय बच्चन
  633. आँचल बुनते रह जाओगे – राम अवतार त्यागी
  634. आओ बच्चों तुम्हें दिखाएँ – प्रदीप
  635. आओ कुछ राहत दें – दिनेश मिश्र
  636. आओ मन की गांठें खोलें – अटल बिहारी वाजपेयी
  637. आराम करो – गोपाल प्रसाद व्यास
  638. आरम्भ है प्रचंड – पीयूष मिश्रा
  639. आठवाँ आने को है – अल्हड़ बीकानेरी
  640. आया वसंत – सोहन लाल द्विवेदी
  641. अब तो पथ यही है – दुष्यंत कुमार
  642. आप मिले तो – दिनेश प्रभात
  643. कुछ न हम रहे – श्रीकृष्ण तिवारी
  644. कौन तुम मेरे हृदय में? – महादेवी वर्मा
  645. गाल पे काटा – ज़िया उल हक़ कासिमी
  646. जैसी माँ – निदा फाज़ली
  647. नई सहर आएगी – निदा फाज़ली
  648. प्यार का नाता हमारा – विनोद तिवारी
  649. बाल कविता–सीखा हमने – परशुराम शुक्ल
  650. बैरागी भैरव – बुद्धिनाथ मिश्र
  651. भारत महिमा – जयशंकर प्रसाद
  652. वालिद की मौत पर – निदा फाज़ली
  653. विज्ञान और मानव मन (कुरुक्षेत्र से) – रामधारी सिंह दिनकर
  654. विद्रोह – प्रसिद्ध नारायण सिंह
  655. विश्व सारा सो रहा है – हरिवंश राय बच्चन
  656. वे और तुम – जेमिनी हरियाणवी
  657. सिरमौर (भारत–भारती से) – मैथिली शरण गुप्त (राष्ट्र कवि)
  658. होली आयी रे – शकील बदायूंनी

3,866 total views, 6 views today